लोकसभा और राज्यसभा में क्या अंतर होता है?

लोकसभा और राज्यसभा में क्या अंतर होता है?
लोकसभा और राज्यसभा में क्या अंतर होता है?

नमस्कार दोस्तों जैसा कि आप सभी को पता है कि हम आपके लिए हर रोज सामान्य ज्ञान से जुड़ी जानकारी लेकर आते रहते हैं तो दोस्तों आज हम आपके लिए लेकर आए हैं लोकसभा और राज्यसभा में क्या अंतर होता है? loksabha and rajyasabha difference in hindi.
तो दोस्तों आइए जानते हैं लोकसभा और राज्यसभा में मुख्य अंतर क्या होता है?lok sabha chunav 2024.

Buy 10k Gk Q&A PDF

लोकसभा और राज्यसभा में मुख्य अंतर:—
सदस्य:

लोकसभा (lok sabha) :
लोकसभा (lok sabha) के सदस्य सीधे जनता द्वारा चुनाव में चुने जाते हैं.
● लोकसभा के सदस्यों की अधिकतम संख्या 552 है, जिसमें से 530 राज्यों का प्रतिनिधित्व करते हैं और 20 केंद्र शासित प्रदेशों का.
● लोकसभा के सदस्यों की न्यूनतम आयु 25 वर्ष है.
● लोकसभा के सदस्यों का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है.


राज्यसभा (rajyasabha in hindi) :—

राज्यसभा के सदस्यों को राज्य विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्यों द्वारा चुना जाता है.
● राज्यसभा सदस्यों की कुल संख्या 250 है.
● राज्यसभा सदस्यों की न्यूनतम आयु 30 वर्ष है.
● राज्यसभा सदस्योंका कार्यकाल 6 वर्ष का होता है, एवं एक तिहाई सदस्य हर दो साल में रिटायर होते हैं.

Also read 

1. सूर्योदय योजना क्या है?

2. यांत्रिकी से संबंधित प्रश्न

3. 1000 GK Questions in hindi

4. लोकसभा से संबंधित प्रश्न उत्तर

5. राज्यसभा से संबंधित प्रश्न

चुनाव (Election) :—

लोकसभा:—
● लोकसभा के प्रत्येक 5 वर्ष में आम चुनाव होते हैं.
● लोकसभा के सदस्य बहुमत प्राप्त करने वाली पार्टी या गठबंधन से होते हैं.

राज्यसभा:—

● राज्यसभा के सदस्यों के चुनाव निरंतर होते रहते हैं, हर दो साल में एक तिहाई सदस्यों का चुनाव होता है.
● राज्यसभा के सदस्य राजनीतिक दलों के बीच ताकत के अनुपात के आधार पर चुने जाते हैं.

Buy 10k Gk Q&A PDF

शक्तियां:—

लोकसभा:—

● लोकसभा के धन विधेयक पेश करने और पारित करने का अनन्य अधिकार प्राप्त है.
● लोकसभा की सरकार बनाने और गिराने में महत्वपूर्ण भूमिका होती है.
● लोकसभा राष्ट्रपति का चुनाव करवाती है.
● लोकसभा उपराष्ट्रपति का चुनाव करवाती है.
● लोकसभा महत्वपूर्ण संवैधानिक संशोधन करती है.

राज्यसभा:—
● राज्यसभा के पास धन विधेयक पर संशोधन करने या विलंब करने की शक्ति प्राप्त होती है.
● राज्यसभा अन्य विधेयकों पर सहमति देती है.
● राज्यसभा राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के महाभियोग की प्रक्रिया में भागीदारी निभाती है.
● राज्यसभा राज्यों के बीच मतभेदों को सुलझाती है.

 

अन्य अंतर:—

लोकसभा को “जनता का सदन” भी कहा जाता है, जबकि राज्यसभा को “राज्यों का सदन” कहा जाता है.
● लोकसभा की बैठकें नई दिल्ली में लोकसभा भवन में होती हैं, जबकि राज्यसभा की बैठकें नई दिल्ली में संसद भवन में होती हैं.
● लोकसभा के अध्यक्ष को स्पीकर कहा जाता है, जबकि राज्यसभा के अध्यक्ष को उपराष्ट्रपति कहा जाता है.

निष्कर्ष—

लोकसभा और राज्यसभा भारत की दो सदनीय संसद के महत्वपूर्ण सदन हैं. दोनों सदनों की अपनी अलग-अलग शक्तियां और भूमिकाएं हैं, जो भारत के लोकतंत्र को मजबूत बनाने में योगदान करती हैं.

Buy 10k Gk Q&A PDF

तो दोस्तों उम्मीद करता हूं आज की हमारी यह जानकारी लोकसभा और राज्यसभा में क्या अंतर है?, लोक सभा चुनाव 2024, loksabha and rajyasabha in hindi आपको पसंद आई होगी.
इस पोस्ट को लोकसभा राज्यसभा में अंतर, loksabha and rajyasabha difference in hindi को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करें.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *